District Magistrate (DM) कैसे बने? कलेक्टर बनने की जानकारी

District Magistrate (DM) Kaise Bane? IAS Officer Kaise Bane? District Collector Banne Ke Puri Jankari – दोस्तों अगर आप भी एक अच्छा सरकारी अफसर बन कर अपने देश की सेवा करना चाहते हो तो इसके लिए डीएम बन कर अपने देश के लिए अच्छा काम कर सकते हो. आज में आपको इस पोस्ट में इसी के बारे में बताने वाला हूँ. अगर आप भी एक डी एम बनना चाहते हो तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें. इससे सम्बन्धित हर जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलने वाली है।
dm kaise bane-min
हर इंसान का सपना होता है कि वो आगे चल कर कुछ अच्छा काम करे. जिससे वो अपने माँ-बाप और देश का नाम रोशन करें. कोई आगे चलकर इंजीनियर बनना चाहता है। कोई डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करना चाहता है। कोई शिक्षक बनकर समाज को बेहतर बनाने का काम करता है। कोई पुलिस में भर्ती होकर देश की सेवा करना चाहता है। इसी तरह किसी का सपना होता है कि डी एम बनकर देश की सेवा करें।
इसी तरह हर बच्चे का सपना होता है कि वो भविष्य में कुछ अच्छा कर पूरे देश का नाम रोशन कर पाए. लेकिन उन्हें बचपन से ही एक प्रॉपर गाइड नही मिलने की वजह से उनका ये सपना अधूरा रह जाता है. इस तरह के मेने बहुत से उदाहरण देखे हैं कि वो बनना कुछ चाहते है लेकिन अलग स्ट्रीम का चुनाव कर दूसरे फील्ड में चले जाते हैं।

DM Kaise Bane ? in Hindi

आप अपनी जिंदगी में जो भी चीज बनना चाहते हो, उसके बारे में आपको बचपन से ही हर जानकारी पता होना चाहिए. जैसे कि अगर आपको एक डॉक्टर बनना है तो मैट्रिक करने के बाद आपको 12th का एग्जाम Science में biology स्ट्रीम से देना होगा. इसी प्रकार अलग अलग चीज बनने के लिए अलग अलग subject होते हैं।
अगर आप एक डी एम बनना चाहते हो तो यह पोस्ट आपके लिए ही है. आज में आपको IAS officer बनने की पूरी प्रक्रिया के बारे में बताने वाला हूँ. तो चलिए हम इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

DM और IAS का Fullform क्या होता है?

DM का fullform होता है District Magistrate
इसी प्रकार IAS का full फॉर्म होता है Indian Administrative Service

डी एम क्या होता है?

आप मे से कुछ लोग ऐसे भी होंगे जिन्हें DM के बारे में ठीक से नही पता होगा तो में उन्हें बता देता हूँ।
DM का पूरा नाम District magistrate होता है और भारत मे इसे जिलाधिकारी, कलेक्टर, IAS officer जैसे नामों से भी जाना जाता है. भारत मे लोग सरकारी नौकरी में सबसे ज्यादा वैल्यू IAS officer को देते हैं. इसमे बहुत ज्यादा सम्मान और प्यार मिलता है।
DM किसी जिलाक मुख्या होता है. यह जिले के कानून, कृषि, उत्पाद, व्यवसाय, गाँवो, सरकारी योजनाओं को लागू करने का काम करता है। जिले में हो रही हर तरह के कारोबार की देख रेख करना, इसके जिम्मेदारी में होता है।
डी एम IPS officer के कामों पर भी नजर रखता है. IPS और डी एम एक साथ मिलकर जिले को बेहतर बनाने का काम करते हैं.
DM बनने के लिए अभ्यर्थी को SDM बनाया जाता है, फिर उसके कामों को देखने के बाद DM के पद पर नियुक्त किया जाता है. DM में भर्ती होने के लिए डायरेक्ट नही लिया जाता है।
See also  Ethical Hacker कैसे बने? Ethical Hacking Course की पूरी जानकारी

एक डीएम के कर्तव्य क्या क्या होते हैं?

  • कानून व्यवस्था की स्थापना।
  • अधीनस्थ कार्यकारी मेजिस्ट्रेटरों का निरक्षण करना।
  • पुलिस और जेलों का निरक्षण करना।
  • अपराध प्रक्रिया संहिता के निवारक खंड से सम्बन्धित मुकदमों की सुनवाई करना।
  • मृत्यु दंड के कार्यान्वयन को प्रमाणित करना।
  • सरकार को वार्षिक अपराध प्रतिवेदन प्रस्तुत करना।
  • सभी मसलों में मंडल आयुक्त को अवगत कराना।
  • मंडल आयुक्त की अनुपस्तिथि में जिला विकास प्राधिकरण के पदेन अध्यक्ष के रूप में काम करना।

DM बनने के लिए क्या योग्यता (Eligibility) होनी चाहिए?

किसी भी अभ्यार्थी को सिविल सर्विस एग्जाम या फिर UPSC के exam के लिए apply करने के लिए कुछ योग्यता होनी चाहिए. जिनके बारे में नीचे बता रहे है।

Nationality:

  • IAS बनने के लिए अभ्यार्थी India, Nepal, या फिर भूटान का होना चाहिए.
  • Candidate Tibetan Refugee होना चाहिए जिनका पिता या पूर्वज 1 जनवरी 1962 से भारत मे स्थाई रूप से सेटल होने के लिए आये थे।
  • यदि कोई व्यक्ति Ethiopia, Kenya, Malawi, Myanmar, Pakistan, Sri Lanka, Tanzania, Uganda, Vietnam, Zaire, या Zambia का नागरिक है और वो India स्थायी रूप से सेटल होने के intention से आया है तो वो IAS बन सकता है।

Educational Qualification

  • अभ्यार्थी के पास कम से कम बेचलर की डिग्री होनी चाहिए।
  • यदि कोई अभ्यार्थी MBBS या किसी दूसरे मेडिकल एग्जाम को पास कर दिया है लेकिन internship पूरा करना बाकी है तो वो इस परीक्षा को दे सकते हैं। हालांकि, वो जिस यूनिवर्सिटी से फाइनल मेडिकल एग्जाम पास किया है, उसका certificate दिखाना होगा।

Age Limits

  • डी एम बनने के लिए आपकी आयु 21 साल से लेकर 32 साल तक होती है.
  • cast category के हिसाब से age की ऊपरी सिमा में थोड़ी छूट दी जाती है।

No of Age Relaxation:

  • General Category के लिए: आयु में कोई छूट नही है।
  • OBC केटेगरी के लिए: आयु में 3 साल तक कि छूट है. मतलब वो 35 साल के उम्र तक इस एग्जाम को दे सकते हैं।
  • SC/ST Category के लिए: आयु में 5 साल तक कि छूट है। मतलब वो 21 साल से 37 साल तक IAS की परीक्षा को दे सकते हैं।

For Disable Person:

  • अंधा (Blind), बहरा (Deaf), गूँगा, या फिर orthopedically handicapped लोगों के लिए आयु की सीमा में 10 साल तक कि छूट दी जाती है।

परीक्षा देने की Attempts:

एक व्यक्ति इस परीक्षा में कितनी बार बैठ सकता है, ये भी अलग अलग category के हिसाब से अलग अलग रखा गया है. पहले इसमे कोई restriction नही था. 1984 के बाद इसमें restriction लगाया गया है।
  • General Candidates के लिए: सामान्य वर्ग के लोग इस परीक्षा में अधिकतम 6 बार ही बैठ सकता है। (32 साल की आयु तक)
  • SC/ST Candidates के लिए: इस वर्ग के लोगों के लिए कोई attempt restriction नही है. यानी इस वर्ग के लोग 37 साल की आयु के अंदर जितनी बार चाहे परीक्षा दे सकता है।
  • OBC Category के Candidates के लिए: ये लोग अधिकतम 9 बार ही इस परीक्षा में बैठ सकते हैं. (35 साल की आयु तक)
See also  Song Writer कैसे बने? Lyrics Writer बनने की पूरी जाकारी

डीएम कैसे बनें? DM Kaise Bane? District Magistrate Banne Ka Process

अब आप डीएम बनने की एलिजिबिलिटी के बारे में समझ गए होंगे. चलिए अब हम जानते हैं कि डीएम बनने के क्या क्या प्रोसीजर है. चलिए इनके बारे में इनके बारे में हम step by step जानते हैं।

12th पास करें किसी भी स्ट्रीम से

अक्सर 10th class पास करने के बाद अच्छे सोचते हैं कि IAS बनने के किये कौन से subject लेना चाहिए? तो में आपको बता दूं कि इसके लिए कोई fix subject नही है. आप आईएएस का एग्जाम देने के लिए किसी सब्जेक्ट से भी 12th का एग्जाम पास कर सकते हो।
आपको जिस subject में पढ़ने में ज्यादा अच्छा लगता है वो ही सब्जेक्ट लीजिये. यदि आपको maths में मजा आता है तो आप science stream से maths भी रख सकते हो. इसी तरह आप Arts या फिर Commerce subject से भी इस exam को दे सकते हो।

Graduation पूरा करें

12th एग्जाम में उत्तीर्ण होने के बाद आपका अगला स्टेप होता है, ग्रेजुएशन करना। आप IAS बनने के लिए किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन दे सकते हो. इसके लिए भी कोई फिक्स सब्जेक्ट नही है।
बेहतर होगा कि आप यहाँ पर भी अपने मन से किसी भी subject का चुनाव कीजिये. आपको जिस subject में पढ़ने में अच्छा लगता है उसी से ग्रेजुएट कीजिये. इस कोर्स के लिए पहले एक साल लगता था लेकिन अब 2015 के बाद इसकी अवधि को बढ़ा दिया गया है. अब ग्रेजुएशन करने के लिए 2 साल लगते हैं।

Preliminary (Prelims) की परीक्षा पास करें

ग्रेजुएट करने के बाद अब आपका UPSC की असली तैयारी शुरू होता है. UPSC Exam को क्लियर करने के लिए तीन exams को पास करना होता है. जिनमे से पहला है प्रीलिम्स का एग्जाम, दूसरा The Main exam और फिर तीसरा आपका Interview होगा।
प्रीलिम्स की एग्जाम में दो पेपर होते हैं। हर एक पेपर के लिए 200 marks होते हैं. इन दोनों पेपर्स में objective type questions होते हैं. यानी हर एक question के लिए आपको चार विकल्प दिए होते हैं. उनमें से किसी एक सही उत्तर को चुनना होता है।
इसमे negative marking भी होती है, गलत जवाब होने पर 0.33 marks काटे जाते हैं. इनका question paper हिंदी और english भाषाओं में आता है. इस एग्जाम को देने के लिए 2 घंटे का समय होता है लेकिन Disability candidate के लिए 20 मिनट का extra समय दिया जाता है।

The Main Exam को पास करें

इस परीक्षा मे उपस्थित होने के लिए अभ्यार्थी को पहले प्रीलिम्स का exam पास करना होता है. प्रीलिम्स का एग्जाम पास करने के बाद अब आपका अगला टारगेट होता है Main exam को पास करने का. इसमे आपको बहुत मेहनत करनी होती है. क्योंकि यह भारत का सबसे मुश्किल परीक्षा में से एक माना जाता है।
इसको निकलने के लिए आपकी तैयारी भी उसी प्रकार होनी चाहिए. इसका सिलेबस थोड़ा लंबा है और इसमें लगातार बदलाव होते रहते हैं. इस एग्जाम के लिए आपको बहुत मेहनत करनी होगी. क्योकि इसमे आपको कुल 9 पेपर देना होगा. जिसमें लिखित और मौखित दोनों ही शामिल है।
इस परीक्षा की सिलेबस समय समय पर बदलते रहता है, इसलिए आप इसके सिलेबस के बारे में इसकी ऑफिसियल साइट से जानकारी ले सकते हो. इससे सम्बन्धित महत्वपूर्ण लिंक में आपको नीचे बता रहा हूँ।
See also  Police Inspector कैसे बनने? पुलिस इन्पेक्टोर बनने की योग्यताएँ

अब Interview निकालें

Main exam को पास करने के बाद अब आपका अंतिम चरण होता है Interview का. इसमे आपको बड़े बड़े ऑफिसर अपने सामने में interview लेते हैं. इसमे आपकी मेंटेलिटी को भी देखा जाता है। ये कुल 45 मिनट का होता है। इसमे कुल 275 marks होते हैं।
इस इंटरव्यू के आपसे काफी मुश्किल और ट्रिकी सवाल पूछा जाता है. साथ आपके दिमाग की सोचने की शक्ति को जाने के लिए आपसे डबल मीनिंग वाले सवाल भी पूछे जा सकते हैं. सुनने में आपको लगेगा कि कोई गंदा सवाल है लेकिन आपको दिमाग मे सोच कर उसका जवाब positive तरीके से देना होगा.
इसको पास कर लिए फिर आप बन गए एक IAS officer. दोस्तों UPSC clear करने के बाद तुरंत ही आपको DM के पद पर नौकरी नही मिलती है. उसके बाद आपको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है. ट्रेनिंग में तीन महीने फाउंडेशन कोर्स, भारत दर्शन, फेज 1 और फिर लास्ट में induction होता है। इसमे आपको joining लेटर दिया जाता है. शुरू में आपको Sub divisional officer (SDM) का पोस्ट मिलता है फिर बाद में प्रमोशन के बाद आपको DM बना दिया जाता है।

IAS बनने के बाद D.M बनने के लिए क्या करें?

आप सभी को पता होगा कि UPSC क्लियर करने के बाद आपको तुरंत ही डीएम का पद नही मिल जाता है. इसके लिए आपको पहले निचले पद जैसे SDM के रूप में कुछ दिन काम करना होता है. इस पद में कुछ समय रहने के बाद एक या दो प्रमोशन के बाद आपको स्वचालित रूप से डीएम का पद मिल जाएगा. इसके लिए आपको कुछ नही करना होगा।

डीएम बनने के बाद क्या हम अपनी मर्जी से अपनी राज्य या जिला चुन सकते हैं?

नही, ये सब आपके हाथ मे नही होता है. किस डीएम को किस जिले में नियुक्त करने है ये काम राज्य सरकार का होता है. आप अपनी पसंदीदा जगह में पोस्ट के लिए सरकार को चिट्ठी लिख कर आवेदन दे सकते हो।
निष्कर्ष,
उम्मीद है कि अब आपको समझ मे आ गया होगा कि एक DM या कलेक्टर कैसे बनते हैं? इस पोस्ट में हमने इसके बारे में हर सम्भव जानकारी देने का प्रयास किया है. अगर आपका अभी भी कोई सवाल रह गया है तो कमेंट में अवश्य पूछे। हम इससे सम्बन्धित सभी जानकारी आपको देने की कोशिश करेंगे।
तो आपको यह पोस्ट कैसा लगा? हमें कमेंट में जरूर बताएं। साथ ही आप अपना सुझाव भी हमें जरूर दें।
अगर आपको यह पोस्ट पढ़कर अच्छा लगा तो कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों, भाई-बहनों, और रिश्तेदारों के साथ share जरूर करें। इसी तरह के पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग में आते रहिये।

Like the post?

Also read more related articles on BloggingHindi.com Sharing Is Caring.. ♥️

Sharing Is Caring...

3 thoughts on “District Magistrate (DM) कैसे बने? कलेक्टर बनने की जानकारी”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

×