Bank Manager कैसे बने? बैंक मेनेजर बनने के लिए पढ़ाई कैसे करें?

Bank Manager Kaise Bane? Bank Manager Banne Ke Liye Kaise Padhai Kare? ये कुछ ऐसे सवाल हैं, जिनका जवाब हम इस पोस्ट में जानने वाले हैं. अगर आपको भी एक बैंक मेनेजर बनना है तो इसके लिए में आपको पूरी प्रक्रिया बताने वाला हूँ. इस पोस्ट ध्यान से अंत तक जरुर पढ़ें.

bank manager kaise bane

हर इन्सान चाहता है की वो अपनी जिंदगी में कुछ अच्छा बन पाए ताकि वो अपने माता-पिता और पुरे देश का नाम रोशन कर पाए. लेकिन बहुत कम ऐसे खुशनसीब होते हैं जो अपने सपने को सच कर दिखा पाते हैं. उनके अन्दर सपने को सच करने की ताकत होती है.

दोस्तों आप सभी को याद होगा की बचपन में हम टीचर सब बच्चे को एक एक करके खड़ा करके पूछते थे की वो अपनी life में क्या बनना चाहते थे? उस समय हर किसी का जवाब अलग अलग होता था. कोई डॉक्टर, कोई इंजिनियर, कोई टीचर, कोई पुलिस तो कोई बैंक मेनेजर बनना चाहते थे.

Bank Manager Kaise Bane ? in Hindi

अगर आपका भी सपना है, एक बैंक मेनेजर बनने का तो यह पोस्ट आपके लिए ही है. आज हम आपको बैंक मेनेजर बनने के बरे में पूरी जानकारी विस्तार से बताने वाले हैं. इसमें हम आपको हर जानकारी देने वाले हैं जैसे बैंक मेनेजर के लिए पढाई कैसे करनी चाहिए? कौन कौन सी कोर्स करनी चाहिए. आदि

इस पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़िए ताकि बाद में आपको कोई confusion न रहे है. पोस्ट पूरा पढने के बाद आप अपनी प्रतिक्रिया हमें साँझा करें और साथ ही इससे सम्बन्धित कोई सवाल आपके मन में आता है तो उसे भी अवश्य comment करके बताएं.

बैंक का महत्त्व (Importance of Bank)

बैंक हमारे जिंदगी का एक अहम् हिस्सा बन गया है. यह हमारे देश के रीढ़ के साथ साथ लगभग nation के हर sector के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण काम करता है. आज के समय में जब मूल्य का आदान प्रदान पैसा होता है, हम redirectly या indirectly रूप से बैंकों की सेवाओं का उपयोग किये बिना नही रह सकते हैं.

यहाँ तक की अगर हम mobile से डिजिटल भुगतान और e-transfer के दिनों में आ गये है तो इसमें हर तरह के फैसिलिटी के लिए बैंक का इस्तेमाल ही होता है. एक मजबूत इकॉनमी के लिए एक मजबूत banking system का होना अति आवश्यक है.

See also  Politechnic क्या है? पॉलिटेक्निक कैसे करें? पूरी जानकारी

यह भारतीय banking और financial sector की आतंरिक शक्ति, अखंडता और दक्षता थी, जिसने देश की उस समय स्थिर रखने में मदद की जब 2008 और उसके आस पास वैश्विक वित्तीय उथल-पुथल थी. भारत में अभी भी banking sector अभी भी बढ़ रहा है और बहुत सारे जॉब्स और opportunities देता जा रहा है.

ऐसे में banking sector को बढाने में बैंक मेनेजर की एक बहुत अहम् भूमिका होती है. भारत में इस क्षेत्र को और भी बढाने के लिए अभी बैंक मेनेजरों की मांग बहुत है. ऐसे में आप चाहे तो एक बैंक मेनेजर बन कर देश को आगे बढाने का काम कर सकते हो.

बैंक मेनेजर का महत्त्व

एक बैंक मेनेजर किसी बैंक ब्रांच का head होता है. ये बैंक को day to day smoothly run करने के लिए जिम्मेद्दार होते है. ये बैंक के संचालन, शाशन प्रबंध (administration), marketing, managing, और बैंक कर्मचारियों को support करना, ग्राहकों के साथ संपर्क करना, व्यवस्था सुनिश्चित करना आदि जैसी क्रियाओं का नियंत्रण करता है.

अगर हम साधारण शब्दों में बात करें तो एक बैंक मेनेजर बैंक ब्रांच को चलाने के लिए पूरी तरह से responsible होते हैं.

बैंक मेनेजर कैसे बने? How to become a Bank Manager in Hindi?

बैंक मेनेजर के ऐसे महत्व और उत्तरदायित्व की स्थिति को स्वाभाविक रूप से एक ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता होती है जो अधिकतम efficiency और परिणाम के साथ सर्वोत्तम तरीके से आचरण और कार्य करने के लिए दृष्टिकोण, क्षमता और ज्ञान रखता हो।

भारत में, सामान्यतः बैंक मेनेजर पोस्ट में direct entry नही मिलता है. इसमें सबसे पहले  निचले स्तर के पद पर प्रवेश करना पड़ता है और नौकरी के अनुभव और in-house training प्राप्त करने और कुछ निचले वर्षों में विभिन्न निचले स्तरों पर सेवा देने के बाद, बैंक परीक्षण द्वारा संबंधित मापदंडों का मूल्यांकन करने के बाद एक उपयुक्त व्यक्ति को प्रबंधकीय (managerial) जिम्मेदारी सौंपता है और / या साक्षात्कार।

एक बैंक मेनेजर बनने के लिए आपके पास दो उपाय है:

  1. बैंक में assistant या फिर क्लर्क के रूप में प्रवेश लेना और फिर promotions के साथ साथ धीरे धीरे बैंक मेनेजर के पद पर पहुंचना.
  2. एक सीधी भर्ती बैंक अधिकारी या Probationary Officer (PO) या Management Trainees (MT) के रूप में प्रवेश करना और फिर सेवा के कुछ वर्षों के बाद manager बनना, या अधिकारी पद के विभिन्न पैमानों पर प्रगति करना और विभिन्न Managerial scales की ओर बढ़ना।
    प्रबंधक बनने के लिए हम पीओ भर्ती और internal promotion route पर चर्चा करेंगे; पहले बैंक अधिकारी बनना होगा
See also  Song Writer कैसे बने? Lyrics Writer बनने की पूरी जाकारी

Bank Probationary Officer में भर्ती

भर्ती प्रक्रियाओं में विभिन्न परिवर्तनों से गुजरने के बाद, वर्तमान में प्रोबेशनरी ऑफिसर भर्ती के लिए दो मुख्य धाराएं हैं।

  1. इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंक पर्सनेल सिलेक्शन द्वारा आयोजित IBPS examination से चयन द्वारा भर्ती।
    (a) Common IBPS exam कई भाग लेने वाले बैंकों के लिए आयोजित की जाती है।
    (b) IBPS उस बैंक की आवश्यकता के अनुसार किसी विशेष बैंक के लिए पीओ परीक्षा आयोजित करता है।
    (c) बैंक कुछ ऐसे विश्वविद्यालयों के साथ गठजोड़ करते हैं जो चयनित उम्मीदवारों को बैंकिंग में पीजी डिप्लोमा या एमबीए में प्रशिक्षित करते हैं और फिर मेनेजर की level पर सफल उम्मीदवारों को अवशोषित करते हैं।Overseas Bank, Bank Of Baroda, Syndicate Bank, Kotak Bank,ICICI bank जैसे बैंकों ने ऐसा ही किया है।
  2. ज्यादातर नई पीढ़ी के निजी क्षेत्र के बैंक सीधी भर्ती प्रक्रिया का पालन करते हैं।वे उम्मीदवारों को बैंक की वेबसाइटों के साथ अपना प्रोफ़ाइल पंजीकृत करने में सक्षम बनाते हैं।फिर, जैसे ही और जब vacancy उत्पन्न होती हैं, वे इन उम्मीदवारों को test या interview के लिए बुलाते हैं और उन्हें भर्ती करते हैं।

बैंक अधिकारी के रूप में भर्ती होने के लिए न्यूनतम पात्र शैक्षणिक योग्यता

बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर के लिए आवेदन करने के लिए Graduation basic academic qualification योग्यता को दर्शाता है। सरकारी बैंक में नौकरी लेते के लिए अभ्यार्थी को ग्रेजुएशन में  60% अंक प्राप्त करना जरुरी है. Private bank में भारती होने के लिए ग्रेजुएशन में कम से कम 55% अंक जरुरी है. भर्ती करने वाले कुछ बैंक बैंकिंग और वित्त में भी MBA की मांग करते हैं।
IBPS PO/MT tests निम्नलिखित हैं:

  • Quantitative Aptitude
  • English Comprehension
  • Reasoning
  • General Awareness with focus on Banking
  • Computer Basics

विज्ञापन आईबीपीएस वेब साइट और संबंधित बैंक वेब साइटों के अलावा सभी प्रमुख समाचार पत्रों और रोजगार समाचार पत्रों में घोषित किए जाते हैं, कई नौकरी job portals भी प्रदर्शित करते हैं।

See also  Full Time Blogger Banne Ke Liye 10 Jaruri Bate

Officer के रूप में चयन होने के बाद Bank Manager कैसे बनें?

अधिकांश बैंकों में PO  को बैंकिंग के सामान्य पहलुओं के साथ पूरी तरह से बनाने के लिए विभिन्न केंद्रों और विभिन्न विभागों में job training पर दिया जाता है। फिर उन्हें एक अनुभाग या विभाग के स्वतंत्र कामकाज का जिम्मा सौंपा जाता है, जैसे कि job training  में Junior Management Scale I कुछ बैंक पूर्व-पुष्टि परीक्षण और पदोन्नति परीक्षण के रूप में प्रशिक्षण सह परिवीक्षा अवधि के अंत में एक परीक्षण करते हैं। फिर प्रदर्शन के अनुसार परीक्षण के बाद उन्हें Junior Management Scale II  में पदोन्नत किया जाता है या स्केल I में retain किया जाता है.

बैंक शाखाओं को स्केल I, स्केल I, स्केल II आदि के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। प्रासंगिक पैमाने के पुष्टि किए गए अधिकारियों को तब बैंक प्रबंधक के रूप में पोस्ट किया जा सकता है, प्रासंगिक ग्रेड शाखाओं पर।

Bank Manager की सैलरी कितनी होती है?

यह सवाल का जवाब लगभग हर कोई जानना चाहता होगा की बैंक मेनेजर की सैलरी कितनी होती है? तो में आपको बता दूँ की एक बैंक मेनेजर को वेतन के रूप में 20,000 से 60,000 रुपये तक प्रतिमाह प्राप्त होते हैं. अगर हम पुरे साल की बात करें तो पुरे साल में बैंक मेनेजर को 7 से 8 लाख रुपये मिल जाते हैं.

बैंक में योग्यता के अनुसार promotion मिलते रहता है और उसमे उनकी सैलरी भी बढती ही रहती है.

Conclusion,

उम्मीद करते हैं की अब आप जान गये होंगे की बैंक मेनेजर कैसे बन सकते हैं? बैंक मेनेजर बनने की प्रक्रिया क्या है? और इससे सम्बन्धित बहुत सी जानकारी आप जान गये होंगे. अगर आपको इस पोस्ट से सम्बन्धित कोई दूसरा सवाल पूछना है तो हमें निचे comment करके जरुर बताएं.

अगर आपको इसी तरह के पोस्ट पढ़ते रहना है तो हमारे ब्लॉग में आते रहिये और हमारे ब्लॉग के newsletter को join कर लें ताकि जब भी हम नई पोस्ट लिखें तो आपको तुरंत उसका notification प्राप्त हो जाये.

Like the post?

Also read more related articles on BloggingHindi.com Sharing Is Caring.. ♥️

Sharing Is Caring...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

×