Blog Kya Hai? Website Kya Hai? Blog VS Website Apko Kya Banana Chahiye

इस post में हम बताने जा रहे हैं की ब्लॉग क्या है, Website क्या है और ब्लॉग और Website के बीच में क्या differences हैं? बहुत से लोगों को इसके differences के बारे में नही पता होता है, जिससे वो ब्लॉग को website और website को ब्लॉग बोलता है. अगर आपके mind में भी इससे सम्बंधित confusion है तो हम इस post में आपके सभी confusion को दूर करने की कोशिश करेंगे. आप सही से इस post को पढ़ें, इसके बाद आपके mind में ब्लॉग और website दोनों के बिच में differences के बारे में पता चल जायेगा।

Blog kya Hai website kya hai blog aur website me kya difference hai
In my case, जब में internet use नही करता था तो भी मुझे website के बारे में पता था लेकिन ब्लॉग के बारे में कुछ भी मालूम नही था. उस time में स्कूल में पढ़ता था तो computer book में internet के बारे में भी था और computer teacher को internet का knowledge था और वो हमको internet basic के बारे में भी बताया करते थे. तभी से मेरा ये ख्वाहिश था की मुझे भी internet पर अपनी पहचान बनानी और इसका सबसे अच्छा तरीका तो website या blog ही था. जब में facebook में अपना profile बनाया था तो मेरा एक friend है, उसको ब्लॉग के बारे में पता था और उसी ने मुझे ब्लॉग बनाने का idea भी दिया था. उसी दिन से मुझे ब्लॉग और website के differences के बारे में पता चला।

बहुत सारे नए लोगो को ब्लॉग और website के differences के बारे में पता नही हैं. जबकि इनके बिच कुछ ज्यादा differences नही है और समझने में भी बहुत simple है. अगर आप एक बार इनके बिच difference को जान लोगे तो आप भूल नही पाओगे. मेने बहुत से लोगो को देखा है जो इनके differences को नही जानते है और जहाँ website शब्द use करना होता है वहां Blog और जहाँ blog शब्द use करना होता है वहाँ website use करता है. जबकि इनमे बहुत से differences हैं, उन्हें इनके differences के बारे में पता ही नही होता है.

Blog क्या होता है?

Blog word का नाम सबसे पहले weblog था और बाद में इसे Blog कर दिया गया. ब्लॉग एक ऐसा platform हैं, जहाँ पर हम अपने thoughts, story, Information, और भी बहुत सारे चीजें share कर सकते हैं. में आपको एक example देकर बता रहा हूँ की जिस तरह कोई book होता है तो उसमे कोई कहानी या किसी चीज के बारे में जानकारी बताई हुई रहती है और उस Book को कोई Author लिखता है, उसी तरह Blog भी एक Book ही है, जहाँ हम story या किसी चीज के बारे में जानकारी share कर सकते हैं. ब्लॉग को एक ही Author आसानी से manage कर सकता है जबकि किसी website में एक author को manage करना बहुत दिक्कत हो जाती है.

See also  15 Lessons Jo Mene 5 Saal (Years) Ki Blogging Journey Me Seekha

अगर हम आपको simple में कहें तो ब्लॉग में post regular update की जाती है और इसमें discus करने के लिए commenting की facility होती है. आपको अगर किसी post से सम्बंधित कोई thoughts share करने हैं तो ब्लॉग में comment कर सकते हो।

ब्लॉग बनाने के लिए एक CMS जो एक software की तरह काम करती है. अगर आपको Coding यानि html, php, javascript, CSS की knowledge नही है तो भी आप ब्लॉग को अच्छे से manage कर सकते हो. अगर आपको coding की जानकारी है तो आप अपने ब्लॉग की performance और design को और भी better बना सकते हो. वैसे अगर आप चाहो तो ब्लॉग में भी multi authors को add करके साथ साथ काम कर सकते हो. ज्यादातर लोग ब्लॉग अपने personal use के लिए बनाते है. ब्लॉग बनाने के लिए बहुत सारे platforms हैं, जिनमे free और paid दोनों हैं. अब हम निचे इसके गुण के बारे में जानेंगे।

ब्लॉग को पहचानने के लिए इसके कुछ गुण:

ब्लॉग में कुछ गुण पाये जाते हैं जो एक website में नही पायी जाती है. अगर आप इन गुणों को जान लेते हो तो आप किसी भी ब्लॉग को आसानी से पहचान सकते हो. जब आप किसी site में visit करेंगे तो यदि उनमे ये गुण होंगे तो ब्लॉग होगा।

  1. ब्लॉग की Homepage पर recently posted Articles को show किये जाते है।
  2. ब्लॉग के post को Category और tag में रखा जाता है.
  3. लगभग ब्लॉग Mobile responsive होता है और किसी भी device के लिए responsible होता है.
  4. ब्लॉग में Commenting system होता है और ज्यादातर लोग इसे Enable करके रखता है.
  5. ज्यादातर ब्लॉग को एक ही Author manage करता है.
  6. ब्लॉग में Newsletter service का use किया जाता है. जैसे हम Feedburner का newsletter service use करते हैं।
  7. ब्लॉग को हम बिना Coding knowledge के आसानी से manage कर सकते हैं।
  8. किसी ब्लॉग के Homepage पर नए post को reverse-chronological (latest to oldest) order में show किया जाता है.
See also  Blogging Apke Life Ko Kaise Change Kar Sakti Hai

Website क्या होता है?

जब coding (जैसे html, php, javascript, css) के द्वारा बनाये गए पेज को online host करके run किया जाता है तो आप उसे website कह सकते हो. Website coding करके बनाया जाता है. इसीलिए website बनाने के लिए आपको coding की जानकारी होनी चाहिए. अगर नही भी है तो कोई बात नही आप किसी website developer से contact करके अपना website बना सकते हो. अगर में आपको simple word में बताऊँ तो html, php, javascript, css and other coding के द्वारा तैयार की जाने वाली site को website कहते हैं.

Mostly, website को business के लिए बनाया जाता है और आप website का उपयोग online और offline दोनों business में कर सकते हो. आप E-commerce की website बना कर अपना online business शुरू कर सकते हो. जैसे की facebook.com भी एक social networking website है. Mostly, किसी website को बहुत से लोग मिल कर manage करते है. Website में आप बहुत सारे functions को add कर सकते हो लेकिन इन सभी function को खुद से बना कर उसे website में add करना होगा.

बहुत सारे website mobile responsive नही होता है, जिससे mobile में तो website show होती है लेकिन सही से work नही कर पाता है. इसके बहुत सारे qualities हैं. जिसको जानने के बाद आप किसी website को आसानी से पहचान सकते हो।

Website के गुण (Qualities):

अब ये तो जान गए की website क्या होती है लेकिन जब हम किसी site में visit करते हैं तो ये कैसे पता लगाये की ये website है या नही. तो इसके लिए हम आपको website के qualities के बारे में बता रहे हैं. यदि ये quality किसी site में होती है तो website होगी।

  1. Website के homepage पर other sites, product sell, links और business related content होता है.
  2. Website को personally design किया जाता है, इसीलिए इसका look किसी ब्लॉग के बहुत different होता है.
  3. ज्यादतर website को जब आप mobile में open करोगे तो उसका desktop version में open होगा.
  4. Website में पहले से newsletter service नही होती है. यदि आप newsletter service use करना चाहते हो तो feedburner या कोई paid service use कर सकते हो.
  5. बहुत से website में Contact form या online chat का option होता है.
  6. Website का terms and condition होता है. जिन्हें follow करना जरुरी होता है.
  7. ज्यादा तर website को business के लिए बनायीं जति है. इसीलिए जब किसी site में products sell करने के लिए show होता है तो आप इससे पहचान सकते हो की website है।
  8. Website में self domain use किया जाता है. (ex. .com, .org)
See also  Keyword Density, Prominence, Proximity Kya Hai? [SEO Guide]

Website VS Blog: आपके लिए कौन ज्यादा बढ़िया होगा।

ऊपर में पढ़ने के बाद आपको ब्लॉग और website के बारे में पता चल ही गया होगा और दोनों में differences के बारे में भी आपको पता चल गया होगा. अगर आप भी website या blog बनाने के बारे में सोच रहे हैं तो कौन आपके लिए better होगा. ये जानने के लिए सबसे पहले आप अपने आप से ये सवाल का जवाब पूछें की “आपको Coding की knowledge है या नही और आप कितने पैसे खर्च कर सकते हो”

जब आप इन दोनों प्रश्न के उत्तर जान जाओगे तो आपको ये जानने की जरुरत है की आपको किसमे interest है. अगर आपको किसी topic पर अच्छी information है तो आप ब्लॉग बना कर उसमे share कर सकते हो. इससे आप online पहचान बना सकते हो और लोगों से जुड़ सकते हो. यदि आपको इसमें interest नही है और business करने में आपको ज्यादा interest है तो अपना online business करके अच्छा income कर सकते हो. Online business करने के लिए website बना सकते हो या आप किसी developer से website बनवा सकते हो।

आपको जिस पर ज्यादा interest है ब्लॉग बना सकते हो और internet के मद्धम से income भी कर सकते हो.


में उम्मीद करता हूँ की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको ब्लॉग और website के बारे में पता चल गया होगा और दोनों में differences को भी जान गए होंगे. अगर आपको इस post से related कोई सवाल पूछना है तो comment करें. इस post को social media में share जरूर करें।

Like the post?

Also read more related articles on BloggingHindi.com Sharing Is Caring.. ♥️

Sharing Is Caring...

6 thoughts on “Blog Kya Hai? Website Kya Hai? Blog VS Website Apko Kya Banana Chahiye”

  1. Bahut accha post likha hai blog kya sitemap hota hai? aur kaise banate hai bhut hi details ke saath information share kiya hai dhwnayawad

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

×