DigitaOcean Review: DigitalOcean Kya Hai? Pros & Cons

Digital Ocean Review 2020: दोस्तों इस पोस्ट में हम डिजिटल ओसियन hosting के बारे में बात करने जा रहे हैं. ये पुरे दुनियाँ में सबसे अच्छे vps hosting में से एक माना जाता है. अगर आप एक ब्लॉगर हो तो आपको इसके बारे में जरुर जानना चाहिए. यदि आप new blogger हो तो हो सकता है आपको अभी इसकी जरुरत न हो लेकिन future में आपको इसकी जरुरत हो सकती है. इसलिए आज में आपको डिजिटल ओसियन क्या है? और इसके Pros और Cons के बारे में जानकारी देने जा रहा हूँ.

अगर आपको ब्लॉगिंग के बारे में थोड़ी भी जानकारी है तो आप जानते होंगे की web hosting क्या होता है? अगर आप नहीं जानते हो तो in short बताना चाहता हूँ की हमें अपने website के data को store करने के लिए internet पर जगह चाहिए होता है, उसे ही हम hosting कह सकते हैं. इसे समझने का एक आसान example ये है की hosting लेने का मतलब आप इंटरनेट की दुनिया में अपना प्रॉपर्टी खरीद रहे हो. जिसमें आपका website hosted होगा.

बहुत से लोग hosting खरीदने में भी गलती कर देते हैं. जिसका पछतावा उन्हें बाद में होता है. कुछ नये ब्लॉगर cheap hosting के चक्कर में घटिया hosting खरीद लेते हैं. फिर उन्हें बाद में गलती का पता चलता है. लोकल होस्टिंग के बहुत सारे drawbacks होते हैं. में इसके बारे में एक आर्टिकल लिखूंगा.

ज्यादातर नये bloggers की ये प्रॉब्लम होती है की वो जब अपना खुद का ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो उसके पास पैसे की कमी होती है. दूसरी बात ये भी की family वाले भी उन्हें इस मामले में हेल्प नहीं करते हैं. जिससे वे किसी तरह cheap hosting लेकर अपना ब्लॉग बना लेते हैं. लेकिन उन्हें बाद में बहुत परेशानी होती है.

इसलिए में नये bloggers को ये advice देना चाहता हूँ की यदि आपके पास पैसे नही है तो आप blogger जैसे प्लात्फ्फोर्म से शुरू कीजिये. ये बिलकुल free होते हैं और अगर आप इनमे custom domain लगते हो तो आपको ज्यादा से ज्यादा 1000 रुपये लग सकते हैं. ये नये ब्लॉगर के लिए सीखने का सबसे अच्छा प्लेटफार्म होता है.

यदि आप ब्लॉगर में ब्लॉग बना लिए हो तो आप html, css भी सीख लेंगे. उसके बाद आपको थोडा बहुत technical knowledge हो जायेगा तो फिर बाद में आप wordpress पर माइग्रेट कर सकते हो. जो ज्यादा कठिन नहीं होता है. आज ज्यादातर बड़े ब्लॉगर blogspot से ही move करके wordpress पर आये हुए है.

खैर, आज में आपको डिजिटल ओसियन hosting के बारे में बताने वाला हूँ. आपने इसके बारे में कई जगह सुना होगा. कुछ लोग इसके बारे में जानते भी है. में पीछे बहुत समय से Hostlelo hosting use कर रहा था. यह होस्टिंग भी बहुत अच्छा और cheap है.

मेरे site में कुछ problem हो गयी थी, जिसमे कारण मेरा site कभी कभी down हो जाता था. इसके बारे में मेने hosting support team से बात किया तो उन्हें मुझे vps hosting लेने की सलाह दी फिर मेने जब थोड़ी-बहुत हासिल की तो डिजिटल ओसियन के बारे में पता चला. मेरे एक दोस्त का site इसी होस्टिंग पर था तो उन्होंने मुझे digital ocean पर hosting लेने की सलाह दी.

फिर मेने 26 september 2019 को डिजिटल ओसियन पर अपने site को मूव कर लिया. में थोडा निजी काम में व्यस्त था इसलिए समय नही मिल पाया. लेकिन अब मुझे इसको use किये लगभग 2 महीने होने जा रहे हैं तो आज में अपने अनुभव से ज्यादा बेहतर पोस्ट लिख सकता हूँ.

इस पोस्ट को मेने नये ब्लॉगर के लिए लिख है, जिन्हें digital ocean के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है. आगे हम आपको इसके बारे में और भी कई tutorial बताएँगे. फ़िलहाल आज हम अको डिजिटल ओसियन के pros और cons के बारे में बात करने जा रहे हैं. उसके बाद आपके साथ हम इस होस्टिंग के बारे में personal experience भी share करेंगे.

Digital Ocean क्या है?

Digital Ocean एक cloud hosting provider है जो developers के लिए Infrastructure as a Service (Iaas) प्लेटफार्म ऑफर करता है. यह सबसे अब्दी और लोकप्रिय होस्टिंग providers में से एक है. 2013 में पूरी दुनियां के टॉप VPS होस्टिंग में डिजिटल ओसियन का नाम तीसरे नंबर पर था.

आपने पहले amazon aws के बारे में जरुर सुना होगा, जो अभी सबसे अच्छा vps provider माना जाता है. उसी तरह डिजिटल ओसियन भी affordable price में vps service provide करता है जो आज एक बहुत बड़ी hosting company बन गया है. इसका price बहुत ज्यादा नहीं है और सबसे अच्छी बात ये की इसमें आपको यूसेज के हिसाब से pay करने होंगे, जिससे आपको फालतू पैसे नहीं लगेंगे.

में लगभग 2 महीने से इस होस्टिंग को use कर रहा हूँ. लेकिन अभी तक मुझे इसके performance में कोई भी दिक्कत नही हुई है. हालाँकि, ये beginners के लिए बिलकुल भी ठीक नहीं है. इसको मैनेज करने के लिए आपको programming का basic knowledge होने चाहिए.

अभी ज्यादातर बड़े bloggers इसी होस्टिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं. में आपको निचे इस होस्टिंग के pros और cons के बारे में जानने वाले हैं. और साथ ही अंत में आपको अपना personal review भी बताऊंगा. जिससे आप अच्छे से consider कर पायंगे की यह hosting आपके लिए सही है या नहीं?

See also  WP Disable Plugin Ka Use Karke WordPress Site Loading Speed Fast Kaise Banaye

Digital Ocean Pros:

1. Fantastic Uptime

जब भी किसी होस्टिंग प्रोवाइडर के वेबसाइट में जाते होंगे तो वहाँ आप 99% uptime लिखा हुआ जरुर देखते होंगे. मेरे कहने का मतलब है की हर होस्टिंग वाला करता है की वो अपने customer को 99% uptime देता है. कुछ लोग इसे पढ़कर होस्टिंग खरीद लेते हैं फिर बाद में उन्हें बार बार hosting वाले से contact करके कहना परता है.

कुछ होस्टिंग कंपनी ऐसे भी है जो अपने कस्टमर को बहुत अच्छी service देती है. इनमे digital ocean भी शामिल है. ये performance के मामले में बहुत आगे बढ़ते जा रहा है. इसमें regular नये नये features आते रहते हैं.

इस होस्टिंग की uptime 99.9% है. इस होस्टिंग के पुरे साल (2018) की downtime एवरेज में 40 मिनट है. इसका मतलब आप भी समझ सकते हो की ये सच में 99% uptime service देता है.
आप निचे दिए दिए गये image में देख सकते हो की पिछले महीने (अक्टूबर 2019) की uptime 100% है. ये रिपोर्ट pingdom के द्वारा generate किये गया है. अभी current का रिपोर्ट देखने के लिए इस page में जा सकते हो.

2. Response Time

इस होस्टिंग का दूसरा सबसे अच्छा खात ये है की इसका server response time बहुत अच्छा है. जिससे site की loading speed fast हो जाता है. आपने बहुत से ऐसे वेबसाइट को देखा होगा जिसका page size बहुत कम होता है फिर भी वो बहुत slow load होता है. ये response time अधिक होने के कारण होता है.

जब हम होस्टिंग खारिदते हैं तो हम में से ज्यादातर ब्लॉगर response time के बारे में ख्याल नहीं रखता है लेकिन अगर आपको अपने site की loading speed के बारे में चिंता है तो इसको नहीं भूलना चाहिए.

डिजिटल ओसियन का एवरेज response time 300 ms और 400 ms के बिच होता है. ये कभी बहुत कम भी हो जाता है. ये जिनता कम होगा उतना fast आपका site load होगा.
आप निचे pingdom की रिपोर्ट में पिछले महीने (अक्टूबर 2019) की एवरेज रिस्पांस टाइम देख सकते हो.

3. Server Location/Datacenter

अभी हम site के speed की बात कर रहे थे तो आपको एक अच्छी खबर ये भी बता देते हैं की डिजिटल ओसियन के पास अलग अलग region में कई सारे datacenters है. सबसे अच्छी बात ये है की हमारे India के बैंगलोर में इसका datacenter है.

डिजिटल ओसियन का server 12 global location तक फैला हुआ है और ये पूरी दुनिया के 190 देशों में अपना service provide आर रहा है. इसका datacenter Amsterdam, Bangalore, Frankfurt, London, New York, San Francisco, Singapore, और Toronto में मौजूद है.

आप जानते होंगे कीहमारे site की loading speed datacenter पर भी depend करता है. आपको अपने ऑडियंस की region के हिसाब से डाटा सेंटर चुनना होगा, जबही आपके visitors आपके साईट को fast access कर पाएंगे.

ज्यादातर बड़े बड़े होस्टिंग का datacenter हमारे देश से बहार है. कुछ ही ऐसे hosting provider है, जिनका datacenter हमारे देश में है. अगर आपके site में India से ज्यादातर ट्रैफिक आते हैं तो आप बैंगलोर का डाटा सेंटर को select कर सकते हो.

मेरे ब्लॉग में ज्यादातर visitors इंडिया, पाकिस्तान से आते हैं तो इसलिए मेने अपना डाटा सेंटर बैंगलोर रखा है. इसी तरह आप भी अपने visitors के हिसाब से इसे सेलेक्ट कर सकते हो.

4. Full Access/Control

Basically, जब हम shared hosting use करते हैं तो हमें control panel मिलता है, जिसमे हमें control panel मिलता है. इससे users को अपने होस्टिंग को मैनेज करना बहुत आसान हो जाता है. इसमें कई तरह के addon होते हैं, जिससे आप आसानी से इसमें कुछ भी कर सकते हो.

जैसे अगर आपको wordpress install करना है तो आप control panel में one-click wordpress install वाले addon की मदद से आसानी से वर्डप्रेस साईट बना सकते हो.

आप में से बहुत से लोग ये नहीं जानते होंगे की hosting वाले control panel में कुछ limit set किये होते हैं. जिससे कभी आपके site में कोई error भी आ सकता है. इसके लिए आपको hosting team से contact करना होता है. फिर वो आपके समश्या को हल करते हैं.

लेकिन अगर हम डिजिटल ओसियन की बात करें तो इसमें आपको full control मिलता है. जिससे आप इसमें किसी भी तरह के web app को run कर सकते हो. इसमें आपको हर काम अपने से coding की मदद से करना होगा.

हम पहले ही बात कर चुके हैं की ये hosting beginners के लिए बिलकुल भी नहीं है. इसमें आपको command run करके कुछ भी कर सकते हो.

मान लीजिये आपको डिजिटल ओसियन पर वर्डप्रेस इनस्टॉल करना है तो इसके लिए आपको अपने से server में required packages को install करना होगा. जैसे की php, Mysql/MariaDB, WordPress files को खुद से install करना होगा. फिर आपको अपने से सारे सेटिंग करने होंगे.

हालाँकि, डिजिटल ओसियन की हजारों tutorial आपको internet पर मिल जायेंगे, जिसकी मदद से आप आसानी से इसे मैनेज कर सकते हो.
जो काफी समय से इस फील्ड में हैं उनके लिए ये होस्टिंग अच्छा है. क्योकि इससे उन्हें जरुरत के हिसाब से सारे features मिल जाते हैं. लेकिन beginners के लिए ये hosting बिलकुल भी recommended नहीं है.

5. Security

हर साल लाखों wordpress site hack होते हैं, इसके लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार hosting होता है. WordPress site का 90% security आपके hosting पर depend करता है. इसलिए होस्टिंग की security के मामले में आपको हमेशा चौकन्ना रहना होगा.

See also  Mostly Professional Bloggers WordPress Use Kyu Karte Hai

Digital ocean अपने users की सिक्यूरिटी के लिए बहुत सारे features provide करता है. लेकिन अगर आप इसके security का इस्तेमाल नही करना जानते हो तो आपकी secure नहीं होंगे. जैसे अगर आप files और folders की permission को set करने में भी गलती कर देते हो तो कोई आपके site को hack कर सकता है.

मेने भी शुरू में ये mistake की थी की permission को ठीक से set नहीं किया था, जिसके कारण file exicute होने की बजे download हो जाता था. मुझे इसमें बारे में ज्यादा जानकारी भी नहीं थी तो मुझे बाद में इसमें बारे में पता चला. उस समय अगर कोई चाहता तो मेरे database का इनफार्मेशन भी प्राप्त कर सकता था. इसीतरह अगर आपसे भी कोई गलती हुई तो साड़ी मेहनत बेकार हो सकती है.

इसमें security के लिए ये सब features मिल जायेंगे:

  • Two factor Authentication: इसको enable करने के बाद जब भी आप डिजिटल ओसियन पर लॉग इन करेंगे तो आपके email पर एक otp आयेगा, उसको वेरीफाई करके ही आप login कर पाएंगे.
  • Backup code: आप 2 वेरिफिकेशन के अलवा अपनी security को और भी मजबूत करने के लिए backup codes का इस्तेमाल भी कर सकते हो. इसे आपको खुद choose करना होगा.
  • SSH Keys: आप digital ocean पर ssh keys का इस्तेमाल करके अपनी security को कई गुणा बढ़ा सकते हो. Normally, IP address और password से कोई भी आपके droplet को access कर सकता है लेकिन ssh key को लगाने के बाद IP के जगह आपको ssh key का इस्तेमाल करना होगा.
  • Backup: इसमें backup की भी सुविधा है लेकिन इसके लिए आपको $2 per month के हिसाब से देने होंगे. इससे आपके site का full backup अपने आप होते रहेगा. उसे आप कभी भी download कर सकते हो.

6. Affordable Price

Digital ocean बाकि दुसरे cloud hosting providers की तुलना में बहुत कम rate में hosting provide करता है. इसका starting plan सिर्फ $5 से शुरू होता है और $960 तक है. आप अपने site के ट्रैफिक के हिसाब से plan से कर सकते हो.

यदि आपके ब्लॉग में per day की ट्रैफिक 10k-15k है तो आप $5 वाला plan भी ले सकते हो. जिसमे आपको 1GB ram और 25GB SSD मिलेगा.

दुसरे vps के मुकाबले इसका price बहुत अच्छा है और इसकी service भी बहुत बढ़िया है. अगर आप इसको use करने के बारे में जान गये तो इसको इलावा आप दुसरे hosting में जाने के बारे में सोचेंगे भी नहीं.

अगर हम payment method करें तो इसमें payment करने के लिए आपको international debit/credit card की आवश्कता होगी. जैसे Visa, Master Card से आप payment कर सकते हो. लेकिन Rupay debit card में international payment नहीं होता है. आप इसमें अपना credit card add कर देंगे तो हर महीने आपके अकाउंट से पैसे कट जायेंगे. आप paypal के द्वारा payment add कर सकते हो.

Cons of using Digitalocean:

1. For Advanced Users

जैसे की हमने ऊपर भी बात किया है की digital ocean उनके लिए बहुत अच्छा है, जिन्हें website hosting के लावा और भी दुसरे तरह के data को होस्ट करना है. क्युकी उन्हें जरुरत के हिसाब में सभी features मिल जाते हैं.

इससे advanced users को फायदा है लेकिन जो लोग beginner है वो इसका उपयोग नहीं कर पाते है. इसको use करने के लिए developing के बारे में थोड़ी जानकारी होनी चाहिए. वरना इसको use करना मुश्किल हो जाता है.

हालाँकि, मेने कई ऐसे लोगों को भी देखा है, जिन्हें बहुत ज्यादा coding की जानकारी नहीं है लेकिन वो लोग internet पर tutorial search करके इसको use करते हैं. ऐसा करना beginners के लिए risky हो सकता है.

इसलिए इसका सबसे बड़ा drawback ये है की इसको use करने के लिए आपको थोडा बहुत coding की जानकारी होने चाहिए. नये ब्लॉगर के लिए पहले ही digital ocean use करना सही नही होता है.

अब सवाल ये है की beginners क्या करें? इसके लिए मेरी राय ये है की पहले उन्हें Hostgator, Bluehost या और भी किसी अच्छे hosting provider की shared hosting use करना चाहिए. उसके बाद धीरे धीरे जब cpanel को use करने के बारे में अच्छे से सीख लेंगे तो आपको अपना experience हो जायेगा.

जब आपके ब्लॉग में ज्यादा ट्रैफिक आने लगेंगे, जिससे आपका ब्लॉग बार बार down हो जाये तो फिर digital ocean आपके लिए अच्छा option होगा. उसके बाद आप अपनी hosting को इसपर transfer कर सकते हो.

पहले में भी shared hosting use करता था, उसके बाद मेने digital ocean पर transfer किया है. अगर आपको पता नहीं है की Hostgator, Bluehost, Godaddy या दुसरे shared hosting से digital ocean में transfer कैसे करना है तो इसके लिए में अलग से पोस्ट लिखूंगा.

2. Lack of Basic Features

आपने अभी तक बहुत सारे hosting के बारे में सुना होगा, जिनमे ज्यदातर hosting provider अपने service में hosting के साथ कई सारे extra features भी देते हैं. जैसे free domain, cpanel, CDN, backup, migration

लेकिन अगर हम डिजिटल ओसियन की बात करें तो इसमें आपको ये सब चीजें नहीं मिलने वाली है. हाँ, आप इसमें भी Let’s encrypt को free में install कर सकते हो लेकिन इसको भी आपको अपने server में install करके configure करना होगा.

See also  WordPress Me Email Se Login Karna Disable Kaise Kare [2 Mthods]

इसी तरह आपको इसमें cpanel भी नहीं मिलता है. अगर फिर आप इसको use करना चाहते हो तो आप अपने server में cpanel install कर सकते हो लेकिन ये आपको third party से खरीदना होगा, जिससे आपको $20 – $30 सिर्फ cpanel के लगेंगे फिर hosting का extra. अब आप खुद decide कर सकते हो.

हाँ, अगर आपको अच्छे से कोदिंह के बारे में पता है तो दुसरे होस्टिंग के मुकाबले में आपको डिजिटल ओसियन में कम पैसे खर्च करने होंगे.

अगर आप डिजिटल ओसियन का उपयोग करते हो तो इसके लिए आपको कुछ extra services दुसरे जगह से लेना होगा. जैसे domain, CDN (अगर use करना चाहते हो तो). इसके अलावा site माइग्रेशन भी आपको खुद से करना होगा.

3. Limited Customer Support

ज्यादातर होस्टिंग प्रोवाइडर्स को आपने देख होगा की वो अपने customers को 24/7 supporting की सुविधा देते हैं. जिससे कभी भी उसके users को problem होती है तो उन्हें support टीम से contact करके उसे हल कर लेता है.

लेकिन डिजिटल ओसियन अपने customers को 24/7 supporting की सुविधा नहीं देती है. इसमें अगर कभी आपको परेशानी हुई तो आप direct इसके support team से contact नहीं कर सकते हो. इसके लिए आपको उसके वेबसाइट में जाकर support ticket create करना होगा. फिर उसके 24 घंटे के अंदर उसके support team आपको email पर reply देंगे.

जब आप अपना ticket submit करेंगे तो ये आपको जल्दी reply देने का दावा करेंगे लेकिन कभी कभी ये लोग थोडा समय भी ले लेता है.

आपको बता दे की digital ocean support team हिंदी भाषा support नहीं करता है. इसलिए आपको उन्हें English में अपनी problem के बारे में बताना होगा. बहुत से लोगों के लिए ये भी एक बहुत बड़ी problem है.

अगर आपको किसी error या problem का समना करना पर रहा है तो आप इसके बारे में गूगल पर search करेंगे तो आपको tutorial मिल जाएगी. जिसके मदद से आप खुद से issue को fix कर सकते हो.

डिजिटल ओसियन के knowledge base में 1500+ posts मिल जायेंगे. जिससे आप अपने किसी भी problem का solution पता कर सकते हो.
अभी आपको इसके बारे में हिंदी में बहुत कम tutorial मिलेंगे. लेकिन अगर आप English समझते हो तो आपके लिए बहुत सारे tutorial मिल जायेंगे.

क्या हम आपको Digital Ocean Recommend करते हैं?

जैसा की आप सब को पता है में पिछले कुछ समय से डिजिटल ओसियन hosting का use कर रहा हूँ. अब में आपको अपनी राय बता देता हूँ की आपको डिजिटल होस्टिंग use करना चाहिए या नहीं? अगर करना चाहिए तो कब करें?

मुझे Digital ocean हर मामले दुसरे hosting से ज्यादा better लगा है. चाहे हम performance की बात करें या price की बात करें, हर चीज दुसरे hosting के मुकाबले इसमें better है.

इसका price भी बहुत ज्यादा high नहीं है. आप अपने ब्लॉग की ट्रैफिक और storage के हिसाब से अपना plan select कर सकते. अगर अप्केलिये में per day 10k ट्रैफिक आता है तो $5 का plan भी ले सकते हो.

मेने जब होस्टिंग खरिद था तो मुझे 1 महीने के लिए $50 free credit मिला था. अगर आप भी $50 free credit लेकर इसको use करना चाहते हो तो निचे link पर click कर सकते हो.

जैसा की मेने पहले भी एक पोस्ट लिखा है की hosting provider क्या क्या झूट बोलते हैं? अक्सर, मेने बहुत से hosting provider को देखा है की वे अपने customer को जैसा service देने की बात करते हैं, बाद में उतना better service नहीं दे पाते हैं.

लेकिन डिजिटल ओसियन पहले जैसे service देने की बात करते हैं, बाद में इनका service वैसे ही होता है. मुझे इस hosting को use किये हुए 2 महीने होने जा रहे हैं लेकिन अभी तक मेने 1 minute का downtime नहीं देखा है. और मेरे ब्लॉग के performance के बारे में आप हमसे बेहतर जानते होंगे !!

अगर आपको developing के बारे में थोडा जानकारी है तो ये आपके लिए बिलकुल सही hosting है. इसको मैनेज करने के लिए आपको command का इस्तेमाल करना पड़ता है. आप command की मदद से कुछ भी आसानी से setup कर सकते हो. अगर आपको कोई भी web application install करना होता है तो इसे आप command की मदद से आसानी से कर सकते हो.

Infact, आप wordpress को भी cmd से बहुत आसानी से install कर सकते हो लेकिन आपको cmd के बारे में जानकारी होने चाहिए.

अगर आप beginner है, तो हम आपको अभी इसको use करने की एडवाइस नहीं देते हैं. क्युकी ये आपके लिए बहुत risky भी हो सकता है. आप कुछ समय shared hosting use कर सकते हो. इससे आपको धीरे धीरे hosting के बारे में जानकारी मिल जायेगा फिर आप आसानी से डिजिटल ओसियन को use कर सकते हो.

Conclusion,
हमें उम्मीद है की इस पोस्ट को पूरा पढने के बाद आपके डिजिटल ओसियन से related सभी confusion दूर हो गये होंगे. अगर अभी भी आपको इसके बारे में कुछ पूछना है तो आप निचे comment कर सकते हो. अगर आपको डिजिटल ओसियन से सम्बन्धित कोई भी tutorial चाहिए तो हमें बताएं, हम आपको पोस्ट लिख कर बता देंगे.

अगर पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ social media में share कीजिये.

Like the post?

Also read more related articles on BloggingHindi.com Sharing Is Caring.. ♥️

Sharing Is Caring...

5 thoughts on “DigitaOcean Review: DigitalOcean Kya Hai? Pros & Cons”

  1. Agar aap achhe se optimize kare to 5$ ka droplet 2 lakh page views per day handle kar sakta hai. Main ye dekh chuka hun. Aapne digital ocean ki achi review likhi hai. Main bhi isi hosting ko use karta hun.

    Reply
    • Actually, Hosting lene se pahle me bhi confused tha aur mene kafi sare blogger se kaha ki mere site par 1 lakh per day traffic hai but sabne mujhe $10 to $20 wala plan bataya but abhi mujhe anubhav ho gya hai ki $5 wale plan me bhi kafi traffic handle ho skta hai. Apka comment newbies ke liye helpful hogi, Thanks.

      Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

×