WWW क्या है? कैसे काम करता है? Internet और WWW में क्या अंतर है?

WWW Kya Hai? WWW Ka FullForm Kya Hai? WWW Kyu Jaruri Hai? ये कुछ ऐसे सवाल है, जिनका जवाब हर इन्टरनेट यूजर जानना चाहता है. हम में से ज्यादा लोगों को इसके बारे में पता नही होता है. इसलिए आज हम इस पोस्ट में इसी के बारे में पूरी जानकारी जानने वाले हैं. इस पोस्ट को अंत तक जुरूर पढ़िए और अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगे तो इसे social media में भी share करें.

www kya hai kaise kam karta hai

आज पूरी दुनियां internet पर निर्भर है. और आज के समय में हर कोई इन्टरनेट का उपयोग किसी न किसी रूप में कर रहा है. चाहे वो business के लिए हो, पैसे कमाने के लिए, अपने friends, family और relative से जुड़े रहने के लिए हो या फिर entertainment के लिए हो, सभी काम आज internet से हो रहा है.

इन्टरनेट ने मानव जाती को एक बहुत बड़ा हथियार दिया है. यह हमारी life को पहले के मुकाबले और भी ज्यादा आसान बना दिया है. आज दुनियां से बड़े बड़े business भी internet से ही चलते है.

आप भी internet का सही उपयोग करेंगे तो इससे आप बहुत कुछ कर सकते हो. आप किसी भी चीज के बारे में आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकते हो. इसके अलावे आप इन्टरनेट से पैसे भी कम सकते हो. अगर आप बोर हो रहे हो तो मनोरंजन के भी साधन यहाँ पर मौजूद है.

इन्टरनेट की सुविधाओ तक पहुँचाने के लिए हमें किसी website से जुड़ना होता है. कोई website आमतौर पर किसी एक विषय या उद्देश्य को लेकर बनाया जाता है. आपने देखा होगा की website के address के पहले www लगा हुआ होता है.

ये www क्या है और क्यों होता है? इसके बारे में बहुत से लोगों को पता नही होता है. तो आज हम इसी के बारे में जानने वाले हैं. हम आपको निचे सरल भाषा में समझाने की प्रयास कर रहे हैं. अगर आपको कही समझने में दिक्कत हो तो हमें comment में बताएं.

WWW का FullForm क्या है?

www क्या है इसके बारे में जानने से पहले इसका पूरा नाम जान लेते हैं. यदि आप कंप्यूटर का कोर्स किये होंगे तो इसके बारे में आपने कंप्यूटर के बेसिक जानकारी में पढ़ा होगा. इसका fullform होता है World Wide Web. चलिए अब हम इसके बारे में विस्तार से जानते हैं.

See also  Windows 10 Me Screen Password Lock Setup Ya Change Kaise Kare

WWW क्या है? (What is WWW in Hindi?)

World wide web, जिसे हम web भी कहते हैं, websites या फिर webpages का एक collection है जो की web server में store किये होते हैं और ये internet के द्वारा local computer से connected रहते हैं. ये webpages HTML में होते हैं और इसमें text, images, videos और audio होते हैं. युजेर्स अपने devices जैसे computer, laptop, cell phones आदि से इन कंटेंट्स को दुनियां के किसी कोने से internet के माध्यम से access कर सकता है.

WWW को online content का network भी कहा जाता है. यह पूरी तरह से HTML formate में होता है और इसे HTTP के माध्यम से एक्सेस किया जाता है.

WWW HTTP, HTML, Web Server और Web Browser के माध्यम से काम करता है. इसको access करने के लिए किसी website पर जाना होगा है. जैसे की https://blogginghindi.com तो आप इसमें भी देख सकते हो की www लगा हुआ है. इसी तरह सभी website के URL में www होता है. कोई इसको hide करके भी रखता है.

WWW और Internet के बिच क्या अंतर है?

कुछ लोग Internet तो कुछ लोग WWW यानि world wide web term का use करते हैं. वे लोग सोचते हैं की दोनों एक ही चीज है, लेकिन में आपको बता दूंगा की ये दोनों एक नही है. इन्टरनेट, WWW से पूरी तरह से अलग है.

Internet एक बहुत सारे devices जैसे computers, laptops, tablets, etc. का एक worldwide network है. यह एक दुसरे से connect होने में मदद करता है, जिससे की हम एक दुसरे से चैटिंग कर पाते हैं, या किसी को email कर पाते हैं. समान्यतः जब आप किसी से online चैटिंग करते हो तो उस समय आप internet का उपयोग कर रहे होते हैं.

जब आप किसी website पर visit करते हो जैसे google.com, blogginghindi.com या किसी अन्य website पर जाते है तो उस समय आप world wide web का इस्तेमाल कर रहे होते हैं. जब आप किसी कंप्यूटर से browser के माध्यम से किसी webpage का request भेज रहे होते हैं, और server उस page को आपके browser में भेजता है तो उस समय आप www का उपयोग कर रहे होते हैं.

तो www और internet में बीएस यही फर्क है. अब आप समझ गये होंगे की दोनों एक नही है. इसमें बहुत से लोगों को confusion होती है. आशा है अब आप समझ गये होंगे. आगे से आपको www term का use कहाँ करना है और internet term का use कहाँ करना है, पता चल गया होगा.

See also  Ek Achhe Website Ka Develop Kaise Kare [Beginners Guide]

WWW कैसे काम करता है?

अब तक, हमलोग ये समझ गये हैं की www websites का एक बहुत बड़ा collection है, जहाँ लोग इनफार्मेशन को ढूंढ सकते हैं और share भी कर सकते हैं. अब हमलोग ये समझते है की ये काम कैसे करता है.

Web Internet का basic client-server formate में work करता है, जिस प्रकार निचे image में भी दर्शाया गया है.

जब कोई user अपने computer से किसी webpage पर जाने के लिए server से request करता है. सर्वर web pages को user के computer में store और transfer करने का काम करता है. server एक software program होता है जो web pages को serve करने का काम करता है.

user जिस computer से किसी server को किसी document के लिए request भेजता है, उसे client कहते है. Browser जो user के computer में install किया हुआ होता है, वो मिले हुए document को index करने का काम करता है.

सभी websites वेबस सर्वर्स में store किये हुए होते हैं. जिस तरह कोई किसी रेंट के house में राह रहा होता है, उसी प्रकार बहुत सारे website भी किसी server में होस्ट किये हुए होते हैं. websites को वेबसर्वर में space चाहिए होता है. जब किसी सर्वर में website होस्ट किया हुआ होता है जबहि कोई user उन्हें access कर पाता है. website के owner को hosting के लिए पैसे भी देना परता है.

HTML (Hypertext Markup Language)

HTML एक प्रकार का standard मार्कअप language होता है, जिन्हें किसी webpage को बनाने के लिए उपयोग किया जाता है. यह किसी webpage के ढांचा (stucture) देने का काम करता है. इसमें बहुत सारे tags होते हैं, जिनकी मदद से किसी webpage को structure दिया जाता है. Content के पीसेज जैसे heading, paragraph, table, image, etc. को organize करने के लिए इन्ही tags का use किया जाता है. जब आप browser से किसी website को access करते हो तो html को नही देख पाते हैं. ब्राउज़र HTML tags को show नही करता है, बल्कि इन्हें रेंडर करके एक complete page show करता है.

See also  Successful Internet Marketers Ke 10 Qualities [You Should know]

Web Browser

हम किसी web browser को आम तौर पर ब्राउज़र के नाम से जानते हैं. जो एक program होता है, text, data, pictures, videos, एनीमेशन और बहुत से चीजों को index करता है. जब आप अपने computer में installed browser के आइकॉन पर क्लिक करंगे तो ये launch हो जायेगा. उसके बाद फिर आप world wide web से connect हो सकते हो.

पहले के समय में ब्राउज़र का उपयोग सिर्फ ब्राउज़िंग के लिए किया जाता था, लेकिन अभी browser को काफी advanced बना दिया गया है, जिससे आप ब्राउज़िंग के साथ साथ इ-मेल और files transfer और भी बहुत कुछ कर सकते हो.

Hypertext Transfer Protocol (HTTP)

HTTP एक application लेयर है जो www को स्मूथली और एफ्फेक्टिवेली काम करने के लिए allow करता है. यह client-server मॉडल पर आधारित होता है. Web browser एक client होता है जो user को server से कम्यूनिकेट करने में मदद करता है. यह protocol define करता है की massage को किस तरह से formate और transmite किया जाना चाहिए. Server और web browser के बिच कमांड्स को समझने में मदद करता है.

जब आप किसी browser में URL को इंटर करते हैं, तो HTTP command server को भेजा जाता है और requested webpage को transmite किया जाता है. जब आप browser से किसी website को open करते हो तो web server के बिच connection open हो जाता है. अगर हम असरल भाषा में कहें तो ब्राउज़र HTTP के माध्यम से server से कम्यूनिकेट कर पाता है फिर आपके द्वारा किये गये रेकुएस्तेद page को index करता है. HTTP server से कम्यूनिकेट करने के लिए TCP/IP को carry करता है.

निष्कर्ष,

इस पोस्ट को पढने के बाद आप समझ गये होंगे की WWW क्या है? यह कैसे काम करता है? इससे सम्बन्धित बहुत सी जानकारी आपको जानने को मिली होगी. इस पोस्ट को पढने के बाद भी आपके मन में कोई सवाल रह जाता है तो हमें निचे comment करके बता सकते हो.

अगर पोस्ट पढने के बाद आपको informational लगा तो इसको दुसरे लोगों के साथ भी share करें. ताकि हमें इसी तरह की और भी पोस्ट लिखने की प्रेरणा मिल सके. हमारे ब्लॉग की नई पोस्ट को सबसे पहले पढने के लिए हमारे ब्लॉग की newsletter से join कर लीजिये.

Like the post?

Also read more related articles on BloggingHindi.com Sharing Is Caring.. ♥️

Sharing Is Caring...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

×